ज़िंदगी में कभी भी लालच मत करो

                                     ज़िंदगी में कभी भी लालच मत करो

दोस्तों हम अपनी ज़िंदगी में हमेशा एक बात को सुनते आए है की कभी लालच मत करो ,आज इसी बात को हम एक कहानी के द्वारा साबित करेंगे |

हमारे आज के ज़माने में स्वार्थी नजरिए रखने वाले लोगो , और संगठनो को पनपने का कोई हक़ नहीं है वेदूसरो के हितो की परवाह किये बिना आगे बढ़ने की सोचते है |लालची आदमी हमेशा और अधिक पाने की चाह रखता है.जरूरते पूरी कीजा सकती है लेकिन लालच नहीं.| यह मन का कैंसर होता है. | लालच रिस्तो को नष्ट कर देता है. |लालच आत्मसम्मान की कमी की वजह से पैदा होता है |

 

                                                                                                  लालच का अंत कहा है

एक बार एक लालची किसान से कहा गया की वह दिन में जितनी जमीन पर चलेगा , वह उसकी हो जाएगी ,लकिन सरत यह थी कीवह सूरज डूबने तक सुरु करने की जगह पर वापस लौट आये | ज्यादा से ज्यादा जमीन पाने के लिए वह किसान दुसरे दिन सूरजनिकलने से पहले ही निकल पड़ा.| वह काफी तेज़ी से बढ़ रहा था क्योकि वह ज्यादा से ज्यादा जमीन हासिल करना चाहता था | थकनेके बाउजूद वह सारी दोपहर चलता रहाक्योकि वह ज़िंदगी में दोलत कमाने के लिए हासिल हुए उस मौके को गवाना नहीं चाहता था |दिन ढलते वक्त उसे वह सरत याद आई की उसे सूरज डूबने से पहले सुरुआत की जगह पर पहुंचना है.अपनी लालच की वजह से वहउस जगह से काफी दूर निकल गया था| वह वापस लौट पड़ा | सूरज डूबने का वक्त ज्यो-ज्यो करीब आता जा रहा था , वह उतनी हीतेज़ी से दौड़ता जा रहा था| नतीजा यह हुआ की सूरज डूबते-डूबते वह सुरुआत वाली जगह पर पहुंच तो गया , पर उसका दम निकलगया, और वह मर गया | उसको दफना दिया गया , और उसे दफ़न करने के लिए ज़मीन के बस एक छोटे से टुकड़े की ही ज़रुरतपड़ी.|

 

दोस्तों इस कहानी में काफी सच्चाई और एक सबक छिपा हुआ है की इससे कोई फरक नहीं पड़ता की किसान गरीब था या अमीर |किसी भी लालची आदमी का ऐसा ही हाल होता है.इसीलिए हमें ज़िंदगी में कभी लालच नहीं करना चाहिए|

 

यदि आपके पास Hindi/English में कोई Article,Motivational/ Inspirational story या जानकारी है जो आप हमारे साथ share करना चाहते हैं तो कृपया उसे अपनी फोटो के साथ E-mail करें. हमारी Email Id है:successduniya@yahoo.com.पसंद आने पर हम उसे आपके नाम और फोटो के साथ यहाँ PUBLISH करेंगे. Thanks!

 

184 views

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *